News & Update

Pm Kisan Samman Nidhi Yojana 9th Kist

PM Kisan 9th installment: किसान सालाना मिलने वाले 6,000 रुपये का बेसब्री से इंतजार करते रहते हैं. ऐसे में उनके लिए ये अच्छी खबर है. पीएम किसान (PM Kisan) की ओर से उनकी 9वीं किस्त (9th Installment) में 2000 रुपये उनके खाते में दिए जाएंगे. जी हां सरकार किसानों को उनके अकाउंट में 9 अगस्त को किस्त भेजेगी. पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi scheme) के तहत किसानों को आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए सालाना 6,000 रुपये ट्रांसफर किए जाते हैं. यह मदद किसानों को तीन किस्तों में दी जाती है. हर तीन माह के बाद 2,000-2,000 रुपये ट्रांसफर किए जाते हैं.

बता दें, पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 10.90 करोड़ किसानों के खाते में 2,000 रुपये सीधे ट्रांसफर किए जाते हैं. (kisan ki kist kab aaegi) अभी तक कुल 1,37,192 करोड़ रुपये किसानों को ट्रांसफर की गई है. (kisano ko 2000 kab milega) यानी सरकार किसानों को 8 किस्तों का पैसा दे चुकी है. इस योजना का फायदा किसानों को बराबर मिल रहा है, जिनका पैसा सीधे उनके खाते में ट्रांसफर किया जाता है.

भारत सरकार ने देश के छोटे और सीमांत किसानों को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की घोषणा 1 फरवरी 2019 को की थी। उसके बाद से ही किसानों के खातों में सरकार की तरफ से ₹2000 की राशि वित्तीय सहायता के रूप में प्रदान की जा रही है।

इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा नौवीं किस्त का भुगतान 9 अगस्त किया गया है। इसके जरिए जिन रजिस्टर्ड किसानों को लाभ योजना प्राप्त हुआ है वे किस तरह से अपना खाता चेक कर सकते हैं. और जिन किसानों ने अब तक आवेदन नहीं किया है वह किस तरह से आवेदन कर सकते हैं यह जानकारी हमारे इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको मिल जाएगी।

Pm Kisan Samman Nidhi Yojana Kya Hai

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि भारत सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक योजना है। इस योजना के अन्तर्गत छोटे और सीमान्त किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करती है, जिनके पास 2 हेक्टेयर (4.9 एकड़) से कम भूमि हो।

इस योजना के तहत सभी किसानों को न्यूनतम आय सहायता के रूप में प्रति वर्ष 6 हजार रूपया मिल रहा है। 1 दिसम्बर 2018 से लागू यह योजना किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत ₹ 6,000 प्रति वर्ष प्रत्येक पात्र किसान को तीन किश्तों में भुगतान किया जाता है और सहायता राशि सीधे उनके बैंक खातों में जमा हो जाती है। अर्थात प्रत्येक 4 माह के बाद किसान को 2 हजार की सहायता राशि दी जा रही है।

योजना की शुरुआत वर्ष 2018 के रबी सीजन में की गई थी। उस समय सरकार ने इसके लिए 20 हजार करोड़ रुपये का अग्रिम बजटीय प्रावधान करा लिया था, जबकि योजना पर सालाना खर्च 75 हजार करोड़ रुपये आने का अनुमान था। लेकिन देश में किसानों की संख्या अधिक होने के कारण एवं इस योजना में किसानो की दिलचस्पी होने के कारण सालाना खर्च में बढ़ोतरी हुई है।

छोटे किसानों के लिए यह योजना अत्यन्त उपयोगी सिद्ध हुई है। बुवाई से ठीक पहले नगदी संकट से जूझने वाले किसानों को इस नगदी से बीज, खाद और अन्य इनपुट की उपलब्धता में सुविधा हो रही है।

इन छोटे किसानों में ज्यादातर सीमान्त हैं, जिनका खेती से पेट भरना मुश्किल है। लेकिन इस योजना के आने के बाद किसान इसका लाभ ले कर काफी खुश हैं।

इस योजना का लाभ दो हेक्टेयर खेती वाली जमीन से कम रकबा वाले किसानों को दिए जाने का प्रावधान है। राज्य सरकारें ऐसे किसानों की जोत के साथ उनके बैंक खाते और अन्य ब्यौरा केंद्र सरकार को मुहैया कराती है। उसकी पुष्टि के बाद केन्द्र सरकार ऐसे किसानों के बैंक खातों में सीधे धन जमा करती है। योजना की सफलता में डिजिटल प्रणाली की भूमिका अहम साबित हो रही है।

Pm Kisan Samman Nidhi Yojana Ki 9th Kist

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना जब से जारी हुई है उसके बाद से ही लगातार किसानों के लिए किस्तें एक के बाद एक उनके बैंक खाते में पहुंचाई जा रही है। इस योजना के अंतर्गत किसानों को 9 अगस्त को 9 वीं क़िस्त पहुंचा दी गई है। जी हां किसानों के खातों में डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर के ऑप्शन का इस्तेमाल करके नौवीं किश्त की राशि यानी 2000 रुपए पहुंचाए गये है।

Pm Kisan Samman Nidhi Yojana Kya अनिवार्य Hai

  • आधार कार्ड :- इस योजना का लाभ प्राप्त करने वाले लाभार्थियों के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य कर दिया गया है जिन किसान भाइयों के पास आधार कार्ड नहीं है वे इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए तुरंत अपना आधार कार्ड बनवा लें।
  • जमीन की सीमा खत्म :- इस योजना के आरंभ में केवल उन किसान लाभार्थियों को आवेदन की आज्ञा दी गई थी, जिनके पास 2 हेक्टेयर या 5 एकड़ खेती संबंधित जमीन उपलब्ध है। परंतु फिलहाल देश के सभी किसानों को इस योजना से जोड़ने के लिए भूमि की यह सीमा खत्म कर दी गई है।
  • स्टेटस जानने की सुविधा :- जो किसान लाभार्थी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अपना आवेदन कर चुके हैं या करना चाहते हैं तो वह अपने आवेदन पत्र की स्थिति खुद जांच सकते हैं। उसके लिए उनके पास केवल अपना आधार कार्ड नंबर या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर अथवा बैंक खाता होना अनिवार्य है इन सभी वस्तुओं की मदद से वे अपने आवेदन की स्थिति चेक कर सकते हैं।
  • स्वयं रजिस्ट्रेशन करने की सुविधा :- साल 2019 में जब इस योजना का शुभारंभ किया गया था, तब इस योजना में पंजीकरण करवाने के लिए लेखपाल, कानून और कृषि अधिकारियों के पास किसान भाइयों को जाना पड़ता था जिससे उन्हें बहुत समस्या होती थी और काफी समय व्यर्थ करना पड़ता था। परंतु अब जो किसान भाई इस योजना में लाभार्थी बनना चाहते हैं वह घर बैठे अपना खुद का आवेदन दर्ज कर सकते हैं।
  • किसान क्रेडिट कार्ड :- इस योजना का सबसे बड़ा बदलाव यह है कि इस योजना में जिन लाभार्थियों ने अपना पंजीकरण करवा लिया है उन्हें किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसी भी अतिरिक्त दस्तावेज की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। यदि वह किसान भाई किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहते हैं तो उन्हें पहले प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अपना पंजीकरण दर्ज कराना होगा।

यदि अब तक किसी किसान भाई का पंजीकरण प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में नहीं हुआ है तो योजना में आवेदन अब भी कर सकते हैं।

Pm Kisan Samman Nidhi Yojana Ke Liye Kaise Apply Kare

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए किसान भाई दो माध्यम से आवेदन कर सकते हैं, पहला माध्यम कॉमन सर्विस सेंटर है, दूसरा माध्यम किसान भाई खुद प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की अधिकारी वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं

कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) से पीएम किसान योजना के लिए कैसे आवेदन करें

  • किसान योजना में आवेदन करने के लिए आपको अपने नजदीकी CSC सेंटर पर जाना होगा।
  • वहाँ पर आपको अपना आधार कार्ड, बैंक पासबुक और जमीन के दस्तावेज ले कर जाना होगा।
  • CSC संचालक को सभी डॉक्यूमेंट दें और किसान योजना में आवेदन करने को कहें।
  • आवेदन शुल्क देने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन और आवेदन हो जायेगा
  • आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन है इसलिए इसमें ज्यादा समय नहीं लगता है. मात्र 5 से 10 मिनट में आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

ऑनलाइन खुद कैसे आवेदन करें

  • सबसे पहले पीएम किसान योजना के लिए नया आवेदन करने के लिए pmkisan.gov.in/ पर जाएँ, यह पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट है।
  • अब यहां New Farmer Registration के विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपको अपना आधार नंबर सब्मिट करना है।
  • आधार नंबर सब्मिट करने के बाद किसान योजना आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • आवेदन फॉर्म में मांगी गयी सभी जानकारी सावधानीपूर्वक भरें और फॉर्म को सब्मिट कर दें
  • इस प्रकार आपका आवेदन पूरा हो जायेगा

आवेदन के पश्चात् आपका आवेदन सत्यापन के लिए आपके ब्लॉक में भेज दिया जाएगा. ब्लॉक में वेरीफाई होने के बाद आपका आवेदन जिला कल्याण विभाग को भेज दिया जाएगा. उसके बाद राज्य सरकार इसको सत्यापित करेगी और अंत में केंद्र सरकार के पास आपका आवेदन ऑनलाइन ही सत्यापन के लिए पहुच जायेगा.

केंद्र सरकार से मंजूरी मिलने के बाद सहायता राशि आपके खाते में आनी शुरू हो जायेगी।

Pm Kisan Samman Nidhi Yojana अपना नाम कैसे चेक करें 

सरकार की ओर से किसानों को 9वीं किस्त 9 अगस्त को मिलेगी. (pm kisan ki 9 kist) इसे चेक करने के लिए आपको अपना नाम लिस्ट में चेक करना होगा कि सरकार कि तरफ से आपके अकाउंट में पैसा आएगा या नहीं..

सबसे पहले आपको http://pmkisan.gov.in पर जाना होगा.
इसके होम पेज पर आपको फॉर्मर्स कॉर्नर मिलेगा.
Farmers Corner  में आपको Beneficiaries List के विकल्प पर जाना होगा.
उसके बाद आपको अपना स्टेट, जिला, तहसील, ब्लॉक और गांव का नाम चुनना होगा.
इसके बाद आपको Get Report पर क्लिक करना होगा. इसके बाद बेनिफिसियरीज लिस्ट सामने आ जाएगी, जिसमें आप अपना नाम चेक कर सकते हैं.

किसानों के नाम कैसे तय किए जाते हैं?

जमीन का रिकॉर्ड चेक करने के बाद आवेदन में अटैच किए गए जमीन के डॉक्यूमेंट्स में नाम चेक किए जाते हैं. अगर ये चीजें सही पाई गईं तो आपका नाम पीएम किसान सम्मान (PM kisan Samman) के पोर्टल पर जोड़ लिया जाता है. (kisano ko milne wali suvidha) यह राज्य की जिम्मेदारी होती है कि किसानों का नाम चेक करके पोर्टल पर डालें. बेनिफिसियरीज की लिस्ट (Beneficiaries List) में रजिस्टर होने के बाद किसानों के अकाउंट में दिए गए रिकॉर्ड के मुताबिक पीएम किसान सम्मान स्कीम की राशि सीधे किसानों के अकाउंट में ट्रांसफर की जाती है.

PM Kisan योजना का किसे नहीं मिलता फायदा

इसके बारे में जो जानकारी है उसके मुताबिक, जो किसान इनकम टैक्स देते हैं या सरकारी कर्मचारी हैं, उन्हें इस स्कीम का लाब नहीं मिलता है. (kisano ka paisa kab aayega) इसके अलावा, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए और जो कर्मचारी पेंशन लेते हैं जिसकी रकम 10,000 से ज्यादा हो, उन्हें इस स्कीम का लाभ नहीं मिलता है.

लिस्ट में नाम न होने पर कहां करें शिकायत?

अगर लिस्ट में आपका नाम नहीं है तो आप पीएम किसान सम्मान की हेल्पलाइन 011-24300606 पर कॉल कर के अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। बता दें कि पीएम किसान सम्मान योजना में सरकार 3 किश्तों में पैसा ट्रांसफर करती है। पहली किश्त 1 दिसंबर से 31 मार्च, दूसरी किस्त 1 अप्रैल से 31 जुलाई और तीसरी किश्त 1 अगस्त से 30 नवंबर के बीच में किसानों के खाते में पहुंचती है।

किसान पीएम किसान हेल्पलाइन से भी जानकारी ले सकते हैं और कोई समस्या हो ता शिकायत दर्ज करा सकते हैं। पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर 155261 है। इसके अलावा पीएम किसान टोल फ्री नंबर 18001155266 और पीएम किसान लैंडलाइन नंबर 011-23381092, 23382401 भी है। पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन 0120-6025109 और ई-मेल आईडी [email protected] है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
close