News & Update

Jalore Me Ghumne Ki Jagah | जालोर में घूमने की जगह | Top 10 Best Famous Tourist Places In Jalore

Jalore In Hindi, दोस्तों इस Article में जानेंगे राजस्थान के Jalore District,  Jalore me Ghumne ki Jagah के बारे में, और साथ ही जानेंगे प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में और वहां तक कैसे पहुंचे और जालोर में घूमने का उचित समय आदि के बारे में-

जालोर राजस्थान राज्य का एक ऐतिहासिक शहर है। यह अपने सोने के शहर और राजस्थान के ग्रेनाइट शहर के लिए प्रसिद्ध है। प्राचीन काल में यह शहर ‘जबलीपुर’ के नाम से जाना जाता था। जालोर क्षेत्रीय मुख्यालय यहाँ हैं। जालोर राजस्थान का एक ऐतिहासिक जिला है, जो लूनी नदी की सहायक नदी सुकरी के दक्षिण में है।

अगर आप जालोर घूमने का प्लान कर रहे हैं तो बता दें कि यहां देखने के लिए बहुत कुछ है। यहां इतिहास प्रेमी जालोर किले की यात्रा कर सकते हैं और 900 साल पहले बना एक मंदिर भी है जिसे सुंधा माता मंदिर कहा जाता है। अगर आप जालोर जाने की योजना बना रहे हैं या इसके पर्यटन स्थलों की यात्रा करना चाहते हैं, तो इस लेख को पढ़ें जहां हम जालोर की यात्रा के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे –

Table of Contents

जालोर का इतिहास – Jalore History In Hindi

जालोर के इतिहास की बात करें तो माना जाता है कि इस शहर की स्थापना 8वीं शताब्दी ईस्वी में हुई थी। संत महर्षि जबाली के सम्मान में इसे जबलपुर कहा जाता था। शहर की पहाड़ी चोटी के कारण इसे स्वर्णगिरि के नाम से भी जाना जाता है। आपको बता दें कि गुर्जर प्रतिहारों, परमारों और चाहनों सहित कई शासकों ने शासन किया। लेकिन बाद में इसे दिल्ली के सुल्तान अला-उद-दीन-खिलजी ने नष्ट कर दिया और चौथी शताब्दी के बाद 1704 में मारवाड़ के शासकों ने शहर की प्रतिष्ठा को बहाल किया।

Also Read Jaipur Me Ghumne ki Jagah

Also Read Jaisalmer Me Ghumne ki Jagah

जालोर में घूमने की जगह- Places to visit in Jalore

जालोर राजस्थान का एक प्रमुख जिला है जो कई आकर्षक पर्यटन स्थलों का केंद्र है। कोई भी अपने परिवार के लोगों और दोस्तों के साथ जालौर की यात्रा कर सकता है। अगर आप जालोर के साथ इसके पर्यटन स्थलों की यात्रा करने जा रहें हैं तो इस लेख को अवश्य पढ़ें, यहां हम आपको जालोर के पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी देने जा रहें हैं।

  1. जालौर का किला – Jalore Fort
  2. तोपखाना – Topekhana
  3. सराय मंदिर –Sirey Mandir
  4. मलिक शाह की मस्जिद – Malik Shah Mosque
  5. सुंधा माता मंदिर – Sundha Mata Mandir
  6. नीलकंठ महादेव मंदिर – Neelkanth Mahadev Temple
  7. जालोर वन्यजीव अभयारण्य – Jalore Wildlife Sanctuary

जालोर में घूमने की जगह- Jalore me Ghumne ki jagah

1. जालौर का किला – Jalore Fort

किला 336 मीटर की ऊंचाई पर एक खड़ी पहाड़ी से घिरा हुआ है। महल जालोर के कई आगंतुकों को आकर्षित करता है। जालोर का किला शहर का सबसे आकर्षक शहर है। महल निर्माण का एक प्रभावशाली टुकड़ा है। किला परमार कानून के तहत नौ मारू महलों में से एक था, जिसे सोंगिर या गोल्डन माउंट के नाम से भी जाना जाता है।

किले का मुख्य आकर्षण इसमें बनी ऊंची, मजबूत दीवारें और तोपें हैं। आपको बता दें कि जालोर किले में 4 मुख्य द्वार हैं लेकिन आगंतुक दो मीटर लंबे सांप पर चढ़कर उसी तरफ से पहुंच सकते हैं। अगर आप जालोर शहर घूमने जा रहे हैं तो आपको इस किले को अपनी सूची में जोड़ना होगा।

2. तोपखाना – Topekhana

तोपखाना जालोर शहर के बीचोबीच स्थित है और पर्यटकों को भी आकर्षित करता है। यह तोपखाना कभी 7वीं और 8वीं शताब्दी के बीच राजा भोज द्वारा निर्मित एक बड़ा संस्कृत स्कूल था। राजा भोज संस्कृत के महान विद्वान थे और उन्होंने शिक्षा के हस्तांतरण के लिए अजमेर और धार में इसी तरह के कई स्कूल बनवाए।

देश के स्वतंत्र होने से पहले, जब अधिकारियों ने गोला-बारूद के भंडारण के लिए स्कूल का इस्तेमाल किया, तो इसका नाम बदलकर आर्टिलरी कर दिया गया। आज, हालांकि इस स्कूल का निर्माण थोड़ा मुश्किल हो गया है, फिर भी यह बहुत प्रभावशाली है।

युद्ध के हथियारों की पत्थर की नक्काशी आगंतुकों को अद्भुत तरीके से आकर्षित करती है। यहां और वहां दो मंदिर भी स्थित हैं, लेकिन इन मंदिरों में कोई छवि नहीं है। टोपेखाना की सबसे ऊंची इमारत जमीन से 10 मीटर ऊपर एक सीढ़ी के साथ एक कमरा है। माना जा रहा है कि कमरे में स्कूल के प्रधानाध्यापक का कब्जा था। अगर कोई पर्यटक जालोर घूमने जा रहा है तो आपको इस ऐतिहासिक स्थल की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

3. सराय मंदिर –Sirey Mandir

पौराणिक कथाओं अनुसार कहा जाता है कि पांडवों ने एक बार मंदिर में शरण ली थी। इस मंदिर तक जाने के लिए पर्यटकों को जालौर शहर से होकर गुजरना होगा और मंदिर तक पहुंचने के लिए 3 किलोमीटर की पैदल यात्रा भी करनी होती है। सराय मंदिर जालोर के प्रमुख मंदिरों में से एक है। आपको बता दें कि यह मंदिर जालोर मर कलशचल पहाड़ी पर 646 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। जालोर की यात्रा दौरान सभी पर्यटकों को सराय मंदिर के दर्शन के लिए जरुर जाना चाहिए।

4. मलिक शाह की मस्जिद – Malik Shah Mosque

इस मस्जिद को बगदाद के सेलजुक सुल्तान मलिक शाह को सम्मानित करने के लिए किया गया था। मलिक शाह मस्जिद जालोर किले के प्रमुख स्थलों में से एक है, जिसका निर्माण अला-उद-दीन-खिलजी के शासन द्वारा करवाया गया था। मलिक शाह मस्जिद को अपनी वास्तुकला के लिए जाना जाता है, जो गुजरात में पाए गए भवनों से प्रेरित है।

5. सुंधा माता मंदिर – Sundha Mata Mandir

सुंधा माता मंदिर समुद्र तल से 1220 मीटर की ऊंचाई पर बना है। यह मंदिर एक पवित्र स्थल है जिसमें देवी चामुंडा देवी की मूर्ति है जो सफेद संगमरमर से बनी है। इस मंदिर में ऐतिहासिक मूल्य के कुछ शिलालेख भी हैं। सुंधा माता मंदिर जालोर के प्रमुख मंदिरों में से एक है जो भारी संख्या में पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। इस मंदिर में ऐतिहासिक मूल्य के कुछ शिलालेख भी हैं।

6. नीलकंठ महादेव मंदिर – Neelkanth Mahadev Temple

नीलकंठ महादेव मंदिर जालौर जिले की भाद्राजून तहसील में स्थित है। जो पर्यटकों को बेहद आकर्षित करता है। गांव में प्रवेश करते समय आप इस मंदिर को देख सकते हैं। नीलकंठ महादेव मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। यह मंदिर अपनी उंची संरचना से यहां आने वाले पर्यटकों को बेहद प्रभावित करता है। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां एक विधवा महिला ने एक शिवलिंग देखा था और इसके बाद वो नियमित रूप से इस शिवलिंग की पूजा करने लगी थी।

7. जालोर वन्यजीव अभयारण्य – Jalore Wildlife Sanctuary

जालोर वन्यजीव अभयारण्य एक दूरस्थ प्राकृतिक जंगल है जो 190 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला है। जालौर वन्यजीव अभयारण्य में आप पैदल यात्रा कर सकते हैं या जीप सफारी की मदद से जंगल को एक्सप्लोर कर सकते हैं। जालोर वन्यजीव अभयारण्य भारत में एकमात्र प्राइवेट अभयारण्य है जो जालोर के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है।

जालोर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Jalore Tourism

जालोर घूमने जाने का सबसे अच्छा समय
Image Credit: Praveen Borana

अगर आप जालोर घूमने के बारे में विचार कर रहे हैं तो बता दें की यहां घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक होता है। सर्दियों का मौसम इस शहर की यात्रा करना एक अनुकूल समय है। रेगिस्तानी क्षेत्र होने की वजह से राजस्थान गर्मियों में बेहद गर्म होता है जिसकी वजह से इस मौसम में यात्रा करने से बचना चाहिए। बारिश के मौसम में यहां की यात्रा करना सही नहीं है क्योंकि ज्यादा बारिश आपकी यात्रा का मजा किरकिरा कर सकती है। इसलिए सर्दियों के मौसम में जालोर की यात्रा करना सबसे अच्छा रहेगा।

जालोर में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन – Famous Food In Jalore

जालोर में खाने के लिए प्रसिद्ध भोजन

अगर आप जालोर के प्रसिद्ध भोजन के बारे में जानना चाहते हैं तो बता दें कि यहां पर भोजन के कई विकल्प उपलब्ध हैं। जनता स्वीट्स होम यहां खाने के लिए बहुत अच्छी जगह है। यह खासकर अपनी प्याज़ कचौरी, विशेष घेवर और धुध जलेबी के लिए प्रसिद्ध है। प्याज कचौरी खाने के बाद आप इसे बार- बार खाना चाहेंगे।

जनता स्वीट होम खाने के लिए बहुत साफ और स्वच्छ स्थान है। इसके अलावा आप यहां पर गुलाबजामुन, रसमलाई, लड्डू और विशेष मारवाड़ी कुल्फी कैंडी आइसक्रीम का स्वाद भी ले सकते हैं। इसके अलावा आप जलौर की अन्य जगहों पर भी भोजन का स्वाद ले सकते हैं।

जालोर कैसे जाये – How To Reach Jalore

जालौर के लिए परिवहन के विभिन्न साधनों से यात्रा कर सकते हैं। आपको बता दें कि जालोर का निकटतम हवाई अड्डा 140 किलोमीटर की दूरी पर स्थित जोधपुर में हैं जो मुंबई, दिल्ली और देश के अन्य प्रमुख महानगरों से दैनिक उड़ानों के साथ जुड़ा हुआ है। सड़क द्वारा जालोर की यात्रा करने वाले पर्यटक जोधपुर, जयपुर, अजमेर, अहमदाबाद, सूरत और मुंबई जैसे शहरों से आसानी से इस पर्यटन शहर तक पहुँच सकते हैं। ट्रेन से यात्रा करने वाले लोग जालोर रेलवे स्टेशन के लिए जोधपुर डिवीजन नेटवर्क, मुंबई और गुजरात से ट्रेन पकड़ सकते हैं।

ट्रेन से जालौर केसे पहुचें – How To Reach Jalore By Train

 कैसे पहुंचें जालौर रेल मार्ग से

जालोर रेलवे स्टेशन उत्तर पश्चिम रेलवे लाइन पर पड़ता है। समदड़ी-भिलडी शाखा लाइन जालोर और भीनमाल शहरों को जोड़ती है। इस जिले में 15 रेलवे स्टेशन हैं। देश के अन्य प्रमुख शहरों से जालोर के लिए रोजाना कई ट्रेन उपलब्ध हैं।

सड़क मार्ग से जालोर कैसे पहुंचें – How To Reach Jalore By Road

सड़क मार्ग से जालोर कैसे पहुंचें

अगर आप सड़क मार्ग से जालोर के लिए यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि राजमार्ग संख्या 15 (भटिंडा-कांडला राजमार्ग) इस जिले से गुजरता है। यहां के लिए अन्य शहरों से कोई बस मार्ग उपलब्ध नहीं हैं। जालोर का निकटतम बस डिपो भीनमाल में है जो लगभग 54 किमी दूर है

फ्लाइट से जालोर कैसे पहुंचें – How To Reach Jalore By Flight

जालोर हवाई जहाज से कैसे पहुंचें

जालोर का निकटतम हवाई अड्डा जोधपुर हवाई अड्डा (JDH), जोधपुर है जो लगभग 137 किलोमीटर दूर है और डबोक हवाई अड्डा में उदयपुर लगभग 142 किमी दूर है। इसके अलवा जालोर शहर से लगभग 35 किमी की दूरी पर नून गांव में एक हवाई पट्टी भी उपलब्ध है। जोधपुर हवाई अड्डे से जयपुर, दिल्ली, मुंबई और अन्य महानगरों के लिए सीधी उड़ानें हैं।

इस आर्टिकल में आपने जालोर के प्रमुख पर्यटक स्थलों को जाना है आपको हमारा यह आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

6. जालोर का नक्शा – Jalore Rajasthan Map

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
close